पर्ल्स इंडिया PACL निवेशकों के लिए अलर्ट, गलतियों को सही करने के लिए ये है आखिरी तारीख

न्यूज डेस्क / नई दिल्ली। अगर आपने भी बंद हो चुकी कंपनी पीएसीएल लिमिटेड में निवेश किए गए पैसे को वापस पाना चाहते हैं तो ये अलर्ट आपके लिए है। सेबी ने ऐसे लोग जिन्होंने पैसा वापस पाने के लिए आवेदन कर रखा है, उनके लिए अंतिम तारीख को आगे बढ़ा दिया है। ऐसे लोग अपने आवेदन की स्तिथि और गलतियों को 31 जुलाई 2020 तक सही कर सकते हैं। इसके बाद सेबी उनके रिफंड का प्रोसेस आगे बढ़ा देगा।

पीएसीएल में हुआ था 60 हजार का घोटाला
चिटफंड पीएसीएल इंडिया लिमिटेड की निवेश योजना पर्ल्स इंडिया (Pearls India) में पैसा लगाने वाले करोड़ों निवेशकों के साथ 60 हजार करोड़ रुपये का घोटाला हुआ था। सेबी ने ऑनलाइन पैसा वापस पाने के लिए अलग से एक वेबसाइट बनाई गई है, जिसका पता है- http://sebipaclrefund.co.in/

पीएसीएल में गैरकानूनी तरीके से लोगों से 60000 करोड़ रुपए जुटाए थे। खासतौर पर एग्री और रियल एस्टेट बिजनेस के नाम पर जमा किए थे। सेबी की जांच में भी यही सामने आया कि पीएसीएल ने 18 साल तक चिटफंड स्कीम के जरिए यह फंड इकट्ठा किया था। फिलहाल, पीएसीएल की देश भर में फैली हजारों एकड़ की जमीन और हजारों करोड़ रुपए सेबी के कंट्रोल में है। देश भर में करोड़ों निवेशक अभी तक रिफंड के लिए आनलाइन आवेदन कर चुके हैं। हालांकि, कई निवेशकों ने यह भी शिकायत की थी कि वेबसाइट के ठीक से काम नहीं करने की वजह से उनका रजिस्ट्रेशन नहीं हो सका है।
अब तक नहीं किया रिफंड क्लेम तो क्या?
ऐसे निवेशक जो अभी तक रिफंड के लिए किसी भी वजह से क्लेम नहीं कर पाए हैं। साथ ही उनके पास पर्ल्स (Pearls) के ओरिजनल डॉक्यूमेंट्स हैं तो उन्हें भी इंतजार करना चाहिए। आने वाले समय में सेबी ऐसे निवेशकों के लिए भी नोटिफिकेशन जारी कर सकता है।

इंतजार करें ऐसे निवेशक
सेबी ने अपने स्टेटमेंट में कहा है कि 5000 रुपए से ऊपर के रिफंड वाले निवेशकों और वो निवेशक जिनके पास कोई रसीद नहीं या नॉमिनी हैं या जिनके पास कुछ ही रसीदें है या पीएसीएल की तरफ से जारी कोई भी दस्तावेज नहीं है, उन्हें थोड़ा इंतजार करना होगा. ऐसे क्लेम के लिए सेबी उचित समय पर अगला नोटिफिकेशन जारी करेगा।

डॉक्यूमेंट्स की स्क्रूटनी जारी
ताजा अपडेट के मुताबिक, रिफंड प्रक्रिया में निवेशकों की तरफ से सब्मिट किए गए डॉक्यूमेंटेशन की जांच हो रही है। अभी छोटे रिफंड वाले निवेशकों के बॉन्ड सर्टिफिकेट की स्क्रूटनी हो रही है। रेगुलेटर की स्टेटमेंट के मुताबिक, पीएसीएल के दूसरे निवेशकों को अभी अगले नोटिफिकेशन तक इंतजार करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *