खुलासा – विकास करे पुकार पर सोये है सासंद सरकार ,26 करोड़ से अधिक सांसद निधि नहीं हुुई खर्च

न्यूज डेस्क / देहरादून,एजेंसी । वर्तमान लोकसभा का कार्यकाल प्रारम्भ हुये 6 माह से अधिक का समय हो गया है लेकिन दिसम्बर 2019 तक एक भी रूपया खर्च नहीं हो सका है यहां तक कि केवल टिहरी सांसद माला राज लक्ष्मी को छोड़कर किसी भी सांसद का एक भी रूपया पिछली सांसद निधि शेष होने के कारण भारत सरकार से जारी नहीं हुआ हैै। पिछली लोकसभा सांसदों की भी 26 करोेड़ की सांसद निधि खर्च होने को शेष है। पिछले सांसदों द्वारा स्वीकृत 3342 विकास कार्य दिसम्बर 2019 तक प्रारंभ तक नहीं हुये है।

काशीपुर निवासी आरटीआई कार्यकर्ता नदीम उद्दीन ने उत्तराखंड के ग्राम्य विकास आयुुक्त से उत्तराखंड के सांसदो की सांसद निधि केे खर्च सम्बन्धी सूचना मांगी। इसके उत्तर में ग्राम्य विकास आयुुक्त कार्यालय उत्तराखंड के लोक सूचना अधिकारी उपायुुक्त (प्रशासन) हरगोविंद भट्ट ने अपने पत्रांक 3211 दिनांक 03 फरवरी 2020 से दिसम्बर 2019 के सांसद निधि विवरण की प्रति उपलब्ध करायी है। आरटीआई कार्यकर्ता नदीम कोे उपलब्ध सूचना के अनुसार उत्तराखंड लोेक सभा सांसदो कोे विकास कार्यों के लिये 5 करोड़ प्रति वर्ष की सांसद निधि मे से दिसम्बर 2019 तक केवल टिहरी सांसद राजलक्ष्मी की ढाई करोड़ की सांसद निधि ही जारी हो पायी है। इसके अतिरिक्त किसी की भी सांसद निधि जारी ही नहीं होे सकी है। पिछली ढाई करोड़ की किस्त का प्रयोग विवरण उपलब्ध कराने पर भारत सरकार द्वारा अगली 2.5 करोड़ की किस्त जारी की जाती है। आरटीआई कार्यकर्ता नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुुसार दिसम्बर 2019 तक पिछली लोकसभा के सांसदो को ब्याज सहित उपलब्ध 99.66 करोेड़ की सांसद निधि मे से 78.95 करोेड़ की सांसद निधि ही खर्च हो सकी है। जारी नहीं हुुई 30.00 करोड़ की सांसद निधि सहित कुल 129.66 करोड़ की सांसद निधि मे से 61 प्रतिशत 78.95 करोेड़ की सांसद निधि ही दिसंबर 2019 तक खर्च हुई है।

नये लोकसभा सांसदों की सांसद निधि में केवल टिहरी सांसद राजलक्ष्मी की ढाई करोड़ की सांसद निधि जारी हुई है जिसका कोई रूपया भी दिसम्बर 2019 तक खर्च नहीं हुआ है।
अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा की ब्याज सहित सांसद निधि 2633.84 लाख है जिसमें से दिसंबर 2019 तक केवल 50 प्रतिशत 1310.99 लाख की सांसद निधि ही खर्च होे सकी। हरिद्वार सांसद डा0 रमेश पोखरियाल निशंक की कुुल 2605.09 लाख सांसद निधि मे से केवल 77 प्रतिशत 1997.19 लाख की सांसद निधि खर्च हुुई है जबकि पौड़ी सांसद बी.सी.खंडूरी की 2531.32 लाख की सांसद निधि में से केवल 40 प्रतिशत 1001.14 लाख की सांसद निधि खर्च हुुई है। टिहरी सांसद राजलक्ष्मी की 2634.83 लाख की पिछले सांसद निधि मे से केवल 68 प्रतिशत 1790.2 लाख की सांसद निधि खर्च हुुई है जबकि नैनीताल उधमसिंह नगर सांसद भगत सिंह कोश्यारी की 2560.9 लाख की सांसद निधि मे से 70 प्रतिशत 1795.87 लाख की सांसद निधि खर्च हुुई है।

नदीम को उपलब्ध सूचना के अनुुसार उत्तराखंड के पिछले लोकसभा सांसदोें के सांसद निधि से कुुल 9128 कार्य स्वीकृृत हुयेहै इसमे से दिसंबर 2019 तक 50 प्रतिशत 4592 कार्य हुुये है जबकि 13 प्रतिशत 1194 कार्य चल रहे है तथा 37 प्रतिशत 3342 कार्य दिसंबर 2019 तक शुरू ही नहीं हुुये है। अल्मोड़ा सांसद अजय टम्टा केे 3077 कार्योें मे 29 प्रतिशत 877 पूूर्ण हुुये है, 181 चल रहे है तथा 2019 शुरू नहीं हुुये है जबकि हरिद्वार सांसद डा0 रमेश पोखरियाल केे कुुल 823 कार्यो मे से 76 प्रतिशत 627 कार्य पूर्ण हुुये है, 116 कार्य चल रहेे तथा 80 प्रारंभ नहीं हुुये है। टिहरी सांसद राजलक्ष्मी केे 1486 कार्योें मे 39 प्रतिशत 574 पूर्ण हुयेे है, 760 चल रहेे है 152 शुरू नहीं हुये है। पौड़ी सांसद बी.सी.खंडूरी केे 2694 कार्यो मे 58 प्रतिशत 1568 पूर्ण हुुयेे, 89 चल रहे है तथा 1037 शुरू नहीं हुयेे हैं। नैनीताल-उधमसिंह नगर सांसद भगत सिंह कोेश्यारी केे कुल 1048 कार्योें मेें सेे 90 प्रतिशत 946 पूर्ण हुये है 48 कार्य चल रहेे है तथा 54 कार्य शुरू नहीं हुुये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *